शीघ्रपतन को कैसे रोकें
 

इस लेख में हम आपको शीघ्रपतन और उसके इलाज के बारे में बताएंगे।

यदि किसी को कोई भी गुप्त रोग हो जाता है तो उसे ऐसा लगता है कि उसके जीवन से अब खुशियां चली गई है। गुप्त रोग होने पर वह शर्मींदगी  महसूस करने लगता है। लेकिन ऐसा नहीं सोचना चाहिए। क्योंकि किसी भी व्यक्ति को कभी भी कोई भी रोग हो सकता है। किसी भी रोग को ठीक करने लिए जितना जरुरी इलाज है। उसके साथ साथ रोगी में आत्मविश्वास  का होना भी आवश्यक है। इन रोगों में ज्यादातर देखा गया है कि कुछ लोग दवाईयों के साइड इफैक्ट  के बारे में सोचकर ही अपने रोग का इलाज करवाने से घबराते है। लेकिन आज आयुर्वेदिक इलाज संभव है जिसका कोई साइड इफैक्ट नहीं होता। इस लिए आप निसंकोच  इलाज करवा सकते है। वैसे तो बहुत से गुप्त रोग होते है। लेकिन आज हम इस लेख में शीघ्रपतन के और शीघ्रपतन के आयुर्वेदिक इलाज के बारे में आपको बताएगें। शीघ्रपतन को कैसे रोकें

और पढ़े- लिकोरिया के लिए आयुर्वेदिक उपचार

सबसे पहले जानिए शीघ्रपतन क्या है? (First of all know what is premature ejaculation?)

शीघ्रपतन पुरुषों से संबंधित एक रोग है। शीघ्रपतन को शीघ्र स्खलन भी कहते है। इसे अंग्रेजी में प्रीमच्योर इजैक्युलेशन Premature Ejaculation in Hindi  कहा जाता है। जब सैक्स Sex के दौरान चरम सुख पर पहुंचने से पहले ही पुरुष का वीर्य यानी (Sperm) निकल जाता है तो उसे ही शीघ्रपतन कहते है। हालांकि यह कोई बड़ा रोग नहीं है। लेकिन व्यक्ति में मानसिक कमजोरी  होने की वजह से यह रोग रोगी  को बड़ा लगता है। इसलिए इस रोग के होने पर घबराएं नहीं। ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति सैक्स के बारे में कम जानता है। वह व्यक्ति ही सैक्स के दौरान शीघ्रपतन का शिकार उतनी जल्दी होता है। शीघ्रपतन से सैक्स लाइफ  में संतुष्टि पाना या खुश रह पाना अक्सर पुरुषों के लिए कठिन हो जाता है। लेकिन शीघ्रपतन के रोगी को तनाव लेने की कोई जरुरत नहीं है यह शारीरिक तौर पर किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं देता।

शीघ्रपतन के मनोवैज्ञानिक कारक (Psychological Factors of Premature Ejaculation)

किसी भी बिमारी की कोई ना कोई वजह होती है। लेकिन हर बीमारी के मनोवैज्ञानिक कारणों को भी देखा जाता है। क्योंकि इसका हमारी बामारी पर असर पड़ता है जानिए वो मनोवैज्ञानिक कारक कौन-कौन से है। जैसे डिप्रेशन, घबराहट, तनाव, सैक्स की अपेक्षाएं पूरी न होना, आत्मविश्वास की कमी, रिश्ते की समस्याएं, सैक्स के बारे में कम जानकारी होना। तो आप इन बातों को ध्यान में रखते हुए इनसे दूरी बना कर रखें

शीघ्रपतन के लक्षणों का कैसे पता करें?( How to know the symptoms of premature ejaculation)

शीघ्रपतन Premature Ejaculation Causes उत्तेजना के कुछ सेकेण्ड या मिनट के भीतर हो जाता है

यौन उत्तेजना Sexual stimulation कम होना।

संभोग क्रिया Sexual intercourse शुरू होते ही, या होने से पहले

वीर्यपतन Ejaculation होना सैक्स SEX करते समय तनाव में रहना

और पढ़े –शुक्राणु बढ़ाने का सबसे अच्छा आयुर्वेदिक इलाज

शीघ्रपतन के लिए हमारा आयुर्वेदिक उपचार (Our Ayurvedic Treatment for Premature Ejaculation)

Ayurvedic Treatment for Premature Ejaculation, शीघ्रपतन के लिए उपचार,  premature ejaculation, Premature Ejaculation in Hindi
Ayurvedic Treatment for Premature Ejaculation

हमारे यहां शीघ्रपतन का इलाज अमन क्लिनिक पानीपत में किया जाता है। हमारे द्वारा रोगी को उसकी स्थिति और उसकी जीवन शैली के आधार पर उपचार प्रदान किया जाता है। शीघ्रपतन के लिए उपचार ।इसके अलावा हमारे द्वारा दिया जाने वाला उपचार आयुर्वेदिक होता है। जिसका कोई साइड इफैक्ट नहीं है। अगर आप भी इस बीमारी से जूझ रहे है तो जल्द की अपना इलाज करवाएं और आराम से अपनी सेक्स लाइफ का आनंद लें। लेकिन एक बात पर आप जरुर ध्यान दें कि आप अपने डॉक्टर के साथ पूरी तहर से स्पष्ट और ईमानदार रहे। क्योंकि आप जो भी अपने डॉक्टर को बताते है। वह आपके डॉक्टर को उपचार करने में मदद करेगा।

2 thoughts on “Ayurvedic Treatment of Premature Ejaculation जानिएं शीघ्रपतन क्यू होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *